झारखण्ड रांची

प्राइवेट स्कूल के दबाव में अभिभावक कर रहें आत्महत्या ,मुख्यमंत्री संज्ञान लें :पंकज यादव

रांची। छात्रों और अभिभावकों के आत्महत्या दर में बेतहाशा वृद्धि हुई है. पंकज यादव ने इस मामले में माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन और शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर इस मामले में संज्ञान लेने का निवेदन किया है .पंकज यादव ने कहा कि आए दिन रोज अखबारों में आत्महत्या की खबरें आ रही हैं जिसमें पारिवारिक कलह तथा आर्थिक तंगी को मूल कारण बताया जा रहा है .पर जब आप इस आत्महत्याओं के तह तक जाएंगे तो पता चलेगा की प्राइवेट स्कूलों के टॉर्चर से तंग आकर अधिक लोगों ने आत्महत्या की है. स्कूलों द्वारा प्रतिदिन छात्रों और अभिभावकों को स्कूल फीस भरने के लिए दबाव बनाया जा रहा है .लॉकडाउन में हजारों लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार हुए हैं और वर्तमान में उनके लिए घर चलाना कठिन है ,वही स्कूल प्रबंधन द्वारा अभिभावकों और छात्रों पर स्कूल फी का दबाव पीड़ादायक साबित हो रहा है .स्कूल प्रबंधन द्वारा शिक्षकों पर भी दबाव बनाकर छात्रों से फीस वसूलने की जवाबदेही दी गई है .जिसका कारण यह है की ऑनलाइन क्लास के दौरान भी सामूहिक रूप से छात्रों को फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है .और यह दबाव छात्रों के लिए जलील करने जैसा है जिसका दुष्परिणाम यह हो रहा है कि छात्र डिप्रेशन में चले जा रहे हैं .और अभिभावक फीस और घर खर्च के दबाव के साथ-साथ मेडिकल खर्च का दबाव भी झेल रहे हैं .अभिभावकों का दर्द ना तो स्कूल प्रबंधन समझ रहा है नाही सरकार समझ पा रही है. अतः आपसे निवेदन है कि प्राइवेट स्कूल के मामले में आप संज्ञान ले और उचित कार्रवाई करते हुए आर्थिक रूप से कमजोर अभिभावकों के लिए कोई रास्ता निकालें. ताकि छात्र डिप्रेशन में नहीं जा सके उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल ना हो और अभिभावक पर आत्महत्या करने का दबाव ना आए .पंकज यादव ने कहा कि मुझे विश्वास है की मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इस मामले में संज्ञान लेंगे और अभिभावकों को राहत मिल पाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *