विश्व की अर्थव्यवस्था सुधारने में भारत-अमेरिका का रोल अहम: प्रधानमंत्री

विश्व की अर्थव्यवस्था सुधारने में भारत-अमेरिका का रोल अहम: प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बाद विश्व अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और इसमें गति देने के लिए भारत-अमेरिका की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने भारत को निवेश और व्यापार के लिए एक आदर्श गंतव्य बताते हुए अमेरिकी उद्यमियों का आह्वान किया कि वे यहां आधारभूत ढांचे, रक्षा, स्वास्थ्य और अन्य क्षेत्रों में निवेश करें।
मोदी ने अमेरिका भारत व्यापार परिषद् के भारत-विचार सम्मेलन को बुधवार को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस महामारी से दुनिया को सबक लेना चाहिए। अब तक दुनिया का ध्यान अर्थव्यवस्था के कुशल संचालन और इसका अधिक से अधिक विस्तार करना था। अब हमें यह सबक मिला है कि अर्थव्यवस्था को अप्रत्याशित झटकों को सहन करने की क्षमता विकसित करनी चाहिए।
मोदी ने इस संबंध में हाल में शुरु किए गए आत्मनिर्भर भारत अभियान का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि दुनिया की अर्थव्यवस्था को ठोस आधार देने के लिए घरेलू आर्थिक क्षमताओं का मजबूत होना जरूरी है। घरेलू स्तर पर उत्पादन क्षमता का विस्तार वित्तीय प्रणाली में सुधार और अंतरराष्ट्रीय व्यापार में विविधिता कायम करना बहुत आवश्यक है। आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत समृद्ध और क्षमतावान विश्व के लिए अपना योगदान दे रहे हैं।
भारत को निवेश का आदर्श स्थल बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया में भारत को लेकर बहुत आशायें हैं। इसका कारण यह है कि भारत मुक्त व्यवस्था, अवसर और विकल्प मुहैया करता है। भारत अवसरों की भूमि है। भारत में तेजी से परिवर्तन हो रहा है तथा पहली बार इंटरनेट का प्रयोग करने वाले लोगों में गांव के लोगों की संख्या अधिक है। सरकार ने कृषि क्षेत्र में हाल में नेक सुधार किए हैं जिससे निवेश के लिए अनुकूल माहौल बना है। मोदी ने अमेरिका की ऊर्जा कंपनियों को निवेश का न्यौता देते हुऐ कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था गैस आधारित बनने की ओर बढ़ रही है यह अमेरिकी कंपनियों के लिए निवेश का अच्छा अवसर है। मोदी ने कहा कि निवेशक विमान परिवहन, रक्षा और अंतरिक्ष क्षेत्र में निवेश के अवसरों का फायदा उठा सकते हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के दौर में अप्रैल से जुलाई महीने के बीच भारत में 20 अरब डॉलर का विदेशी निवेश हुआ है। हर वर्ष भारत में पिछले वर्ष की तुलना में निवेश में बढ़ोतरी हो रही है। वर्ष 2019 -20 में विदेशी निवेश 74 अरब डॉलर था। यह पिछले वर्ष की तुलना में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्शाता है।

अन्तराष्ट्रीय